टिहरी सीट पर कांग्रेस व BJP के प्रत्याशी ने किया नामांकन, सीट को लेकर क्या हैं समीकरण, पढ़ें खास रिपोर्ट

लोकसभा चुनाव के लिए टिहरी लोकसभा सीट के भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवारों ने नामांकन करवा दिया है। जबकि निर्दलीय उम्मीदवार बॉबी पंवार पहले ही नामांकन करवा चुके हैं। आज नामांकन के दौरान दोनों दलों ने अपना शक्ति प्रदर्शन भी किया है। दोनों दल जीत का दावा तो कर रहे हैं लेकिन टिहरी सीट को लेकर समीकरण क्या है इस खास रिपोर्ट में पढ़ें।

उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीट पर 19 अप्रैल को पहले चरण में ही मतदान होना है। पहले चरण में हो रहे मतदान को लेकर बुधवार को नामांकन की आखिरी तारीख है। लेकिन नामांकन की आखिरी तारीख से पहले और होली के बाद टिहरी लोकसभा सीट पर भाजपा और कांग्रेस दोनों उम्मीदवारों ने अपना नामांकन करवाया है। टिहरी लोकसभा सीट पर बीजेपी की ओर से माला राज्यलक्ष्मी शाह तो कांग्रेस की ओर जोत सिंह गुनसोला ने नामांकन की आखिरी तिथि से एक दिन पहले नामांकन कराया।

जीत का आंकड़ा पिछली बार से ज्यादा बड़ा होगा
बीजेपी उम्मीदवार माला राजलक्ष्मी शाह ने इस दौरान शक्ति प्रदर्शन भी किया। देहरादून भाजपा महानगर कार्यालय से डीएम ऑफिस तक बड़ी तादाद में भाजपा कार्यकर्ता शक्ति प्रदर्शन में मौजूद रहे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी जहां शक्ति प्रदर्शन में मौजूद रहे तो वहीं माला राज लक्ष्मी शाह के नामांकन में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, राज्य सभा सांसद नरेश बंशल, बीजेपी के कई विधायक भी मौजूद रहे।

मालाराज लक्ष्मी शाह कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन पर भरोसा टिहरी लोकसभा सीट को लेकर जताया है तो वो उस भरोसे पर कायम रहते हुए एक बार फिर टिहरी लोकसभा की जनता के आशीर्वाद से जीतकर लोकसभा पहुंचेंगी। वहीं कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का कहना है कि टिहरी लोकसभा सीट पर जीत का आंकड़ा इस बार पिछली बार से ज्यादा बड़ा होगा।

जोत सिंह गुनसोला ने भी किया नामांकन
टिहरी लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार के साथ कांग्रेस उम्मीदवार जोत सिंह गुनसोला ने भी नामांकन कर दिया है। नामांकन से पहले जोत सिंह गुनसोला ने भी कांग्रेस भवन से लेकर डीएम कार्यालय तक शक्ति प्रदर्शन किया और बड़ी तादाद में कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शक्ति प्रदर्शन में मौजूद रहे।

टिहरी लोक सभा सीट पर पहली बार जोत सिंह गुनसोला मैदान में और वो भी लगातार विजय पताका फहराने वाली माल राजलक्ष्मी शाह के सामने। ऐसे में कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती भी टिहरी लोकसभा सीट को लेकर है क्योंकि इस सीट पर ज्यादा दबदबा राज परिवार का ही रहा है।

टिहरी सीट पर मामला त्रिकोणीय
टिहरी लोक सभा सीट पर मामला फिलहाल जिस तरीके से नामांकन के दौरान शक्ति प्रदर्शन देखने को मिले हैं, उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि मामला त्रिकोणीय होने के आसार हैं। एक तरफ जहां टिहरी लोकसभा सीट पर लगातार जीत का परचम लहरा रही माला राज लक्ष्मी शाह है तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस की ओर से जोत सिंह गुनसोला है। जबकि निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में बॉबी पवार के नामांकन में उमड़ी भीड़ ने भी कुछ हद तक राष्ट्रीय दलों की भी टेंशन बढ़ाई है

सम्बंधित खबरें